International Coffee Day-3 दोस्तों का कॉफी बिजनेस 4 साल में हुआ हिट! अब कमाते हैं करोड़ों


International Coffee Day 2020- हर साल 1 अक्टूबर को इंटरनेशनल कॉफी डे मनाया जाता है. यह दिन उन सभी लोगों के आदर और सम्मान में मनाया जाता है, जो कॉफी के व्यवसाय से जुड़े हैं. इसीलिए आज हम आपको कॉफी के कारोबार से जुड़े तीन दोस्तों की करोड़ों कमाने वाली कंपनी के बारे में बता रहे है…

International Coffee Day 2020- हर साल 1 अक्टूबर को इंटरनेशनल कॉफी डे मनाया जाता है. यह दिन उन सभी लोगों के आदर और सम्मान में मनाया जाता है, जो कॉफी के व्यवसाय से जुड़े हैं. इसीलिए आज हम आपको कॉफी के कारोबार से जुड़े तीन दोस्तों की करोड़ों कमाने वाली कंपनी के बारे में बता रहे है…

मुंबई.कॉलेज के दिनों में तीन दोस्त अश्वजीत सिंह, अजीत और अरमान सूद अच्छी कॉफी पीने के लिए बहुत परेशान रहे. लेकिन उन्होंने इसे परेशानी नहीं समझा, बल्कि कमाई का एक नया जरिए बना डाला. जी हां, यहीं से उन्हें अपने बिजनेस का आइडिया  मिला और उन्होंने अच्छी कॉफी बनाने को आसान करने की ठानी. साल 2016 में इस तिकड़ी ने कॉफी बनाने के आइडिया को कारोबार में तब्दील किया और स्लीपी आउल नाम से कोल्ड ब्रू कॉफी स्टार्टअप की शुरुआत कर दी. आइए जानें उनके सफर के बारे में…

आपको बता दें कि पिछले दो साल में उनकी कंपनी की ग्रोथ 100 फीसदी से ज्यादा रही है. भारत में जहां चाय सबसे पसंदीदा बेवरेज है, वहीं कॉफी भी धीरे-धीरे पॉप्यूलर च्वाइस बनती जा रही है. ऐसे में नए फ्लेवर और फॉर्मेट लाने का ये सही वक्त है.

sleepy owl coffee story, sleepy owl coffee review, sleepy owl coffee discount

ऐसा हुआ शुरू-स्लीपी आउल जैसे सेटअप को खड़ा करने में उन्होंने शुरुआत 12 लाख रुपये अपने सेविंग और फैमली से जुटाए. डीएसजी पार्टनर से मिले 3.5 करोड़ रुपये की फंडिंग के जरिए उनका बिजनेस तेजी से ग्रो करने लगा. स्लीपी आउल फिलहाल 25 हजार से ज्यादा ग्राहकों तक पहुंच चुकी है. साल दर साल के आधार पर कंपनी 100 फीसदी ग्रोथ रिकॉर्ड कर रही स्लीपी आउल का लक्ष्य है कि वो दो सालों में रिटेल स्टोर प्रेसेंस को मौजूदा 100 स्टोर से बढ़ाकर 1000 पर लेकर जाए. कंपनी खुद को एक यूनिक ब्रांड के तौर पर लोगों के घर और ऑफिस में जगह बनाने का फ्यूचर प्लान रखती है. इसलिए कंपनी नए फ्लेवर लाने पर काम कर रही है.ऐसे बढ़ाई अपनी पहुंच- अपना प्रोडक्ट ग्राहकों तक पहुंचाने के लिए स्लीपी आउल बी2बी और बी2सी प्लेटफॉर्म पर काम करती है. कंपनी अपनी वेबसाइट के साथ अमेजॉन पर भी प्रोजक्ट बेचती है. बी2बी के लिए कैफे और रेस्त्रां में सीधे अपने प्रोडक्ट पहुंचाने के साथ-साथ कंपनी कॉर्पोरेट ऑफिस के साथ करार करती है, जिससे ब्रांड वैल्यू बनाने का काम हर तरफ से हो सके. स्लीपी आउल फिलहाल पॉप अप बेसिस पर केपीएमजी, कॉमिक कॉन में मौजूद है. रिटेल मार्केट में स्लीपी आउल फूडहॉल, मॉडर्न बाजार जैसे बड़े रिटेल स्टोर्स के साथ लोकल शॉपिंग स्टोर में मौजूद है.

ऐसे तैयार करते हैं टेस्टी कॉफी- स्लीपी आउल कोल्ड ब्रू कॉफी के लिए अरेबिका बीन्स का इस्तेमाल करता है. इंस्टेंट कोल्ड ब्रू कॉफी बनाने के लिए फार्म फ्रेश बीन्स को ग्राइंड कर 20-24 घंटे तक ब्रू किया जाता है. स्लीपी आउल कॉफी की खासियत ये है कि इसे बनाने के लिए हीट का इस्तेमाल नहीं होता. इससे कॉफी की कड़वाहट और ऐसिडिटी दोनों ही काफी कम हो जाती है और कॉफी का फ्लेवर बेहतर आता है. कंपनी कॉफी को सेल्फ ब्रू और रेडी टू ड्रिंक, दो तरह की पैकेजिंग में ग्राहकों तक पहुंचाती है. 

आमदनी-कंपनी की आमदनी इन कई प्लैटफॉर्म से आता है, हालांकि 60-70 फीसदी ऑनलाइन मॉडेल कॉन्ट्रिब्यूट करता है. ब्रांड लॉयल्टी बढ़ाने के लिए कंपनी सब्सक्रिपशन मॉडल भी शुरू कर चुकी है, जिसमें हर 7 या 15 दिन में कॉफी की डिलीवरी होती रहती है. प्रोडक्ट को अलग बनाने में कंपनी के अनोखे नाम और खास पैकेजिंग का भी अहम रोल रहा है. 





Source link