SISTech Launches Placement Trends 2020 | सिस्टेक द्वारा प्लेसमेंट ट्रेंडज़ 2020 को किया गया लॉन्च


एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

सागर ग्रुप के सागर इंस्टीट्यूट ऑफ साईंस एंड टेक्नोलॉजी (सिस्टेक) गांधी नगर और रातीबड़ कैम्पस मे लॉकडाउन के दौरान प्लेसमेंट ट्रेंडज़ 2020 सीरीज़ ई-इवेंट को लॉन्च किया। प्लेसमेंट ट्रेंडस 2020 सीरीज़ 27 जुलाई से 10 अगस्त तक ऑनलाइन माध्यम से होगी जिसका प्रसारण सिस्टेक के फेसबुक पेज पर लाइव होगा । प्लेसमेंट ट्रेंड्ज़ 2020 वर्तमान परिदृश्य में कॉर्पोरेट द्वारा उभरते हुए रुझानों व कौशल को उजागर करेंगे। इसका उद्देश्य युवाओं और छात्रों मे अपने कौशल की पहचान व उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए कौशल के अंतराल को कम करना रहेगा । प्लेसमेंट ट्रेंडज़ 2020 मे शीर्ष के 15 कॉर्पोरेट मानव संसाधन अधिकारी की ई-उपस्थिति रहेगी जो युवाओं और छात्रों को नए कौशल सेटस की जानकारी प्रदान करेंगे । गोल्डमैन सच, क्वालकॉम, बॉश, डसॉल्ट सिस्टमस , माइक्रोसॉफ्ट, तेजस, हेक्सावेयर, इंफोसिस, सिनोप्सिस, सेल्सफोर्स आदि प्रमुख कॉर्पोरेट हैं जो प्लेसमेंट ट्रेंडज़ 2020 में शामिल होंगे।

सिस्टेक मे अब तक अडानी, एनआईआईटी, नेस्ले इंडिया, इन्फोसिस, एडोब, अमेजन, सैमसंग, टीसीएस, एक्सेंचर, हिमालय, टाटा मोटर्स, डसॉल्ट सिस्टम, बॉश, एयरटेल, एआईएस, कमिंस आदि कंपनियों ने प्रमुखता से कैंपस चयन मे भाग लिया और छात्रों को जॉब ऑफर पेश किये। कंपनियों ने कैंपस चयन के दौरान 762+ इंटर्नशिप के ऑफर्स सिस्टेक के इंजीनियरिंग, फार्मेसी और मैनेजमेंट के छात्रों को ऑफर किए। सिस्टेक अपने छात्रों व फैक्ल्टिज़ को एआई आधारित शिक्षण प्रबंधन प्रणाली प्रदान करता है और उन्हे मशीन लर्निंग द्वारा लाइव परियोजनाओं पर सीखने के अनेक अवसर प्रदान करता है । सागर रिकॉन्ट्रे के तहत सिस्टेक का इन-हाउस प्लेसमेंट ओरिएंटेड ट्रेनिंग प्रोग्राम छात्रों के कौशल व कम्युनिकेशन से उनको कैंपस चयन के लिए तैयार करता है।

डॉ केशवेंद्र चौधरी- प्रिंसिपल सिस्टेक गांधी नगर, डॉ ज्योति देशमुख – प्रिंसिपल सिस्टेक रातीबड़, डॉ कुलदीप गंजू – प्रिंसिपल सिप्टेक, प्रो सोमेन मित्रा – एचओडी एमबीए और प्रो. प्राची श्रीवास्तव – हेड कॉर्पोरेट रिलेशंस ने कॉर्पोरेट्स की भागीदारी के लिए उनका आभार व्यक्त किया।

सागर ग्रुप के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री सिद्धार्थ सुधीर कुमार अग्रवाल ने कहा, ”प्लेसमेंट ट्रेंडेज़ 2020 विभिन्न कौशल व उनके विकास को जानने का प्लेटफॉर्म रहेगा। यह छात्रों को उद्योग की आवश्यकताओं को मैप करके उन्हें अपग्रेडकर संरेखित करेगा।”

0



Source link