डोनाल्ड ट्रंप और जो बिडेन के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिल रही है।


वाशिंगटन, एजेंसियां। अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव की मतगणना जारी है। रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) और उनके डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंद्वी जो बाइडन (Joe Biden) के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिल रही है। बाइडन ने बड़ी बढ़त बना ली है। वहीं ट्रंप ने मतगणना में गड़बड़ी के आरोप लगाए हैं। मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचने की नौबत आ गई है। इस बीच नतीजों को लेकर हिंसा की आशंका को देखते हुए सुरक्षा के पुख्‍ता बंदोबस्‍त किए गए हैं। व्हाइट हाउस समेत प्रमुख वाणिज्य क्षेत्रों और बाजारों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। चुनाव से जुड़ा हर अपडेट जानने के लिए जुड़े रहें jagran.com के साथ…

उम्‍मीदवार सीएनएन्यूयॉर्क टाइम्स
बाइडन253253
ट्रंप213214

US presidential Election Live Update-

बिडेन के लिए सीनेट की जंग भी आसान नहीं 

अमेरिकी अखबार ‘द न्यूयॉर्क टाइम्स’ के मुताबिक, भले ही जो बाइडन का पलड़ा भारी लग रहा है लेकिन अमेरिकी संसद यानी कांग्रेस के उच्च सदन सीनेट में बहुमत हासिल करने के लिए उनकी पार्टी को कड़ा संघर्ष करना पड़ रहा है। ऐसे में अगर डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रत्याशी जो बाइडन राष्ट्रपति बन भी जाते हैं तो सीनेट में बहुमत के बिना उनके लिए काम करना आसान नहीं होगा।

ट्रंप कैपेन ने दाखिल किए केस, सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचेगा मामला 

अमेरिकी चुनाव में जो बाइडन निर्णायक बढ़त बनाने की ओर हैं। वहीं ट्रंप ने विस्कॉन्सिन और मिशिगन में बाइडन की जीत को लेकर सवाल खड़े किए हैं। समाचार एजेंसी एपी के मुताबिक, ट्रंप कैपेन ने बताया कि उसने बुधवार को पेंसिलवेनिया और मिशिगन में मुकदमा दाखिल किया है। ट्रंप कैंपेन पेंसिलवेनिया मामले में सुप्रीम कोर्ट से भी दखल देने की इच्‍छा जताई है। मिशिगन में ट्रंप की शिकस्‍त मामूली अंतर से बताई जा रही है। 

मिशिगन में भी जीते बाइडन, कही यह बात… 

ट्रंप के पक्ष ने पेंसिल्वेनिया में भी मतगणना रोकने के लिए अपील करने की बात कही है। बाइडन ने ट्रंप से एक और राज्‍य छीन लिया है। उन्‍होंने मिशिगन में जीत हासिल की है। साल 2016 के चुनावों में यहां ट्रंप ने जीत दर्ज की थी। बाइडन ने एकबार फिर कहा है कि वह विजेता बनेंगे… उन्‍होंने यह भी कहा कि ये सिर्फ हमारी अकेले की जीत नहीं होगी। यह जीत अमेरिकी लोगों की होगी, हमारे लोकतंत्र की होगी, अमेरिका की होगी। 

लड़ाई पहुंची कोर्ट  

अमेरिकी चुनाव की लड़ाई अब कोर्ट पहुंच गई है। समाचार एजेंसी रॉयटर के मुताबिक, ट्रंप के पक्ष ने मिशिगन में केस दाखिल किया है। ट्रंप ने अदालत से मिशिगन में निलंबित मतों की गिनती कराए जाने की मांग की है। साथ ही बैलेट के मतों की गिनती पर रोक लगाने की अपील की है। यही नहीं ट्रंप ने विस्‍कोसिन में दोबारा मतगणना कराए जाने की भी गुजारिश की है। सबसे बड़ी बात यह कि बाइडन ने विस्‍कोसिन में जीत दर्ज कर ली है। विस्‍कोसिन में बाइडन को 1,630,389 वोट मिले हैं जबकि ट्रंप को 1,609,879 मत हासिल हुए हैं। 

नतीजों पर असमंजस में मीडिया   

कल तक बाइडन को हर सर्वे में आगे बताने वाला अमेरिकी मीडिया अब चुनाव परिणामों को लेकर किसी तरह के कयास नहीं लगा रहा है। वॉल स्ट्रीट जर्नल ने कहा है कि दोनों प्रत्याशियों के बीच कांटे की टक्कर है। वाशिंगटन पोस्ट ने लिखा है कि परिणाम आने में कई दिन लग सकते हैं। वहीं न्यूयार्क टाइम्स ने कहा है कि बाइडन की चुनाव अभियान टीम के अधिकारियों ने संकेत दिया है कि उनकी टीम कांटे के मुकाबले वाले प्रांतों में मतगणना की प्रतीक्षा कर रही है। पढ़ें पूरी रिपोर्ट… 

ट्रंप फंसा सकते हैं पेच

विश्लेषकों का कहना है कि अगर ट्रंप 267 इलेक्टोरल कालेज पर ही रुक गए तो वह धांधली का आरोप लगाकर अदालत का दरवाजा खटखटा सकते हैं। संभावना है कि वह इसके लिए डाक मतपत्रों में गड़बडि़यों को आधार बना सकते हैं। ऐसे में मामला लंबा खिच सकता है। पढ़ें पूरी रिपोर्ट… 

कानूनी लड़ाई की तैयारियों में जुटे ट्रंप और बाइडन 

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव नतीजों पर सवालिया निशान लगने के बाद मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचता दिख रहा है। डोनाल्ड ट्रंप और जो बाइडन दोनों नेताओं की टीम कानूनी लड़ाई की तैयारी में जुट गई हैं। कई महत्‍वपूर्ण राज्यों में मतगणना जारी है। उम्मीद की जा रही है कि शुक्रवार तक सारे मतों की गिनती हो जाएगी। 

किसके खाते में गए कौन से प्रांत

अब तक के आए नतीजों के मुताबिक, ट्रंप के खाते में टेक्सास, लुसियाना, फ्लोरिडा, मिसिसिपी, अलबामा, साउथ कैरोलिना, ओकलाहोमा, अरकंसास, टेनेसी, केंटुकी, वेस्ट वर्जीनिया, ओहियो, इंडियाना, मिसौरी, कंसास, नेब्रास्का, आयोवा, साउथ डकोटा, व्योमिंग, ऊटा, नार्थ डकोटा, मोंटाना, इदाहो प्रांत आए हैं जबकि बाइडन ने कैलिफोर्निया, एरिजोना, न्यू मेक्सिको, कोलराडो, ओरेगन, वाशिंगटन, मिनिसोटा, इलिनोइस, वर्जीनिया, न्यूयॉर्क, न्यू हैंपशायर, मेन में दबदबा कायम किया है। पढ़ें पूरी रिपोर्ट… 

बाजार में बहार, कुलांचे भर रहा टेक्‍नोलॉजी स्‍टाक इंडेक्‍स 

राष्‍ट्रपति चुनाव में मतगणना का काम जारी है। बाइडेन बढ़त बनाए हुए हैं। हालांकि अभी मुकम्‍मल नतीजे नहीं आए हैं बावजूद इसके रुझानों का असर बाजार पर साफ नजर आने लगा है। वॉल स्‍ट्रीट में टेक्‍नोलॉजी स्‍टाक इंडेक्‍स ने बड़ी उछाल दर्ज की है। डॉव जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज में 720 अंकों यानी 2.5 फीसद की बढ़त दर्ज की गई। एसएंडपी में 500 अंकों यानी 3.1 फीसद की बढ़ोतरी देखने को मिली। टेक-हेवी नैस्डैक कंपोजिट में 4.2% की वृद्धि दर्ज की गई।

हवाना में जुटे ट्रंप के समर्थक 

ट्रंप के हजारों समर्थक मियामी के हवाना में फ्लोरिडा में राष्‍ट्रपति की जीत का जश्‍न मनाने के लिए जमा हो गए हैं। ताजा आंकड़ों के मुताबिक, बिडेन को 238 इलेक्‍टोरल मत मिले हैं जबकि ट्रंप 213 इलेक्‍टोरल मतों के साथ जीत के लिए संघर्ष कर रहे हैं। वहीं द न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स के मुताबिक, बिडेन को 227 जबकि ट्रंप को 213 इलेक्‍टोरल मत मिले हैं।  

अनिश्चितता में फंसता नजर आ रहा अमेरिकी चुनाव 

ट्रंप और बाइडन के बीच कांटे की टक्कर जारी है। किसी को बहुमत मिलता नहीं दिख रहा है। अब तक बाइडन 253 इलेक्टोरल कॉलेज में जीत दर्ज कर चुके हैं जबकि ट्रंप के खाते में 214 इलेक्टोरल कॉलेज वोट गए हैं। ट्रंप ने जनता के साथ धोखाधड़ी करने के आरोप लगाए हैं और सुप्रीम कोर्ट जाने की बात कही है। कुछ प्रांतों में मतगणना रुकने और सियासी विवाद के चलते अमेरिकी चुनाव अनिश्चितता में फंसता नजर आ रहा है। विस्‍तृत रिपोर्ट पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक- अनिश्चितता में अमेरिकी चुनाव

कोई राष्‍ट्रपति बने, भारत के साथ संबंधों पर नहीं होगा असर 

अमेरिका में चाहे ट्रंप या बाइडेन कोई भी राष्‍ट्रपति बने लेकिन भारत के साथ रिश्तों की दिशा व भविष्य को लेकर कोई संशय नहीं है। कूटनीतिक क्षेत्र के जानकारों का कहना ह कि भारत इस बात को लेकर मुतमइन है कि अमेरिकी चुनाव परिणामों से दोनों देशों के रिश्तों पर कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है। पढ़ें पूरी रिपोर्ट…

महत्वपूर्ण बैटलग्राउंड राज्यों में फंसा पेंच 

ट्रंप और बाइडेन के बीच महत्वपूर्ण बैटलग्राउंड राज्यों में पेंच फंसा हुआ है। बैटलग्राउंड यानी वे राज्‍य जहां नतीजे स्पष्ट नहीं हैं। वहीं अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, बाइडेन ने कोलोराडो, कनेक्टिकट, डेलावेयर, इलिनोइस, मैसाचुसेट्स, न्यू मैक्सिको, वरमोंट और वर्जीनिया में जीत दर्ज कर ली है। ट्रंप अलबामा, अर्कांसस, केंटकी, लुइसियाना, मिसिसिपी, नेब्रास्का, नॉर्थ डकोटा, ओक्लाहोमा, साउथ डकोटा, टेनेसी, वेस्ट वर्जीनिया, व्योमिंग, इंडियाना और साउथ कैरोलाइना में आगे हैं।

टकराव पर पूरी दुनिया की नजरें 

अमेरिकी चुनाव नतीजों के आने से पहले ही टकराव की स्थिति पर पूरी दुनिया की निगाहें लगी हुई हैं। जर्मनी के रक्षा मंत्री ए सी कारेनबाउर का कहना है कि चुनाव नतीजों की बैधता पर सवालिया निशान लगना बहुत ही विस्फोटक स्थिति है। इससे अमेरिका में संवैधानिक संकट गहरा सकता है। वहीं नतीजों में देरी का असर बाजारों पर भी देखा जा रहा है। कुछ सूचकांकों में बढ़ोतरी तो कुछ में गिरावट दर्ज की गई है… 

अमेरिका में बढ़ा बवाल, ट्रंप के विरोध में उतरे लोग 

अमेरिका में जैसे जैसे मतगणना अपने मुकाम की ओर पहुंच रही है वैसे वैसे तनाव बढ़ता नजर आ रहा है। व्हाइट हाउस से महज कुछ दूरी पर एक हजार से अधिक प्रदर्शनकारी मंगलवार रात को ट्रंप का विरोध करने के लिए जमा हुए। यही नहीं सैकड़ों ने वाशिंगटन की सड़कों पर मार्च निकाला। इस दौरान यातायात बाधित हुआ। न्यूयॉर्क शहर से लेकर सिएटल तक कई प्रदर्शन हुए हैं। पढ़ें पूरी रिपोर्ट…

अगर विवाद हुआ तो क्‍या होगा

अभी पूरी तरह चुनाव नतीजे नहीं आए हैं। ट्रंप ने डेमोक्रेटिक उम्‍मीदवार के मुकाबले जीत की घोषणा कर दी। इससे एक नया विवाद पैदा हो गया है। डेमोक्रेटिक पार्टी ने हफ्तों तक आवाज उठाई थी कि ट्रम्प चुनाव परिणामों पर विवाद करना चाहते हैं। यदि विवाद हुआ तो राष्ट्रपति, अदालतें, राज्य के नेता और कांग्रेस मुख्‍य भूमिका में होंगे। पढ़ें विवाद होने पर क्‍या होगा…

मुस्लिमों ने दिया बाइडन का साथ 

अमेरिका की एक संस्था मुस्लिम सिविल लिबर्टी एंड एडवोकेसी आर्गनाइजेशन के सर्वे में कहा गया है कि अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में 69 फीसद मुस्लिम वोटरों ने जो बाइडन को वोट किया जबकि केवल 17 फीसद ने ही ट्रंप को वोट दिए। करीब दस लाख से ज्यादा मुस्लिम-अमेरिकन वोटरों ने इस बार मतदान किया है। मुस्लिमों की आबादी यहां पर लगभग 35 लाख है।  

डेमोक्रेटिक पार्टी से सभी भारतवंशी नेता जीते 

डेमोक्रेटिक पार्टी के ‘समोसा कॉकस’ के चारों सांसद प्रतिनिधि सभा के लिए दोबारा निर्वाचित हुए हैं। अन भारतवंशियों में एमी बेरा, प्रमिला जयपाल, रो खन्ना और राजा कृष्णमूर्ति शामिल हैं। राजा कृष्णमूर्ति ने पार्टी की तरफ से उम्मीदवार बनने वाले मौजूदा सांसदों को ‘समोसा कॉकस’ की उपाधि दी थी। इस समूह में कमला हैरिस भी शामिल थीं। इस बार उन्हें उपराष्ट्रपति पद का प्रत्याशी बनाया गया है। पढें पूरी रिपोर्ट… 

न्यूयॉर्क प्रांत की विधायिका के लिए चुनी गई जेनिफर राजकुमार 

डेमोक्रेटिक पार्टी की सदस्य जेनिफर राजकुमार ऐसी पहली दक्षिण एशियाई महिला बन गई हैं जिन्हें न्यूयॉर्क प्रांत की विधायिका के लिए चुना गया है। भारतीय-अमेरिकी जेनिफर ने रिपब्लिकन प्रतिद्वंद्वी गियोवेनी परना को शिकस्‍त दी। वहीं ओहियो की प्रांतीय विधायिका के लिए भारतीय-अमेरिकी नीरज अंतनी निर्वाचित हुए हैं। पढ़ें पूरी रिपोर्ट…

ट्रंप ने जीत का दावा किया, कहा- सुप्रीम कोर्ट जाऊंगा

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वोटों की गिनती में फ्रॉड हो रहा है। हम सुप्रीम कोर्ट जा रहे हैं। हम चाहते हैं कि मतदान रुके। जहां तक मेरा सवाल है, हम पहले ही जीत चुके हैं। ट्रंप ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि हम बड़े जश्न की तैयारी कर रहे हैं। हम जैसी उम्मीद कर रहे हैं, जीत वैसी ही होगी। हमने टेक्सास, नॉर्थ कैरोलिना और जॉर्जिया में जीत दर्ज की है। हमें जीता का पूरा भरोसा है। पढ़ें पूरी रिपोर्ट…

ट्रंप को ट्विटर का झटका

इस बीच ट्विटर ने डोनाल्ड ट्रंप के ट्वीट पर भ्रामक होने वाला टैग लगा दिया है। ट्रंप ने ट्वीट किया, ‘हम बड़ी जीत की ओर हैं, लेकिन वो चुनाव में धांधली करने की कोशिश कर रहे हैं। हम उन्हें कभी ऐसा नहीं करने देंगे। मतदान बंद होने के बाद वोट नहीं डाला जा सकता।’

अमेरिकी लोगों की जीत

जो बिडेन ने कहा कि हम चुनाव जीतने जा रहे हैं, हमें पता था कि नतीजों में वक्त लगेगा। जबतक हर एक बैलेट की गिनती नहीं हो जाती है हम इंतजार करेंगे। अंत में अमेरिकी लोगों की जीत होगी, जिन लोगों ने बाहर निकलकर वोट दिया उनका शुक्रिया।

ट्रंप को अबतक 145 इलेक्ट्रोरल वोट

डोनाल्ड ट्रंप को अबतक 145 इलेक्ट्रोरल वोट मिले हैं। ट्रंप अभी तक अलबामा (9), अरकंसास (6), इंडियाना (11), कंसास (6), केंटकी (8), लुइसियाना (8), मिसिसिपी (6), मिसौरी (10), नेब्रास्का (5), नॉर्थ डकोटा (3), ओक्लाहोमा (7), दक्षिण कैरोलिना (9), दक्षिण डकोटा (3), टेनेसी (11), यूटा (6), वेस्ट वर्जीनिया (5) और व्योमिंग (3) में जीत हासिल कर चुके हैं।

17 राज्यों में बिडेन की जीत

जो बिडेन ने कैलिफोर्निया में बड़ी जीत दर्ज की है, जहां 55 इलेक्ट्रोलर वोट हैं। कोलोराडो (9), कनेक्टिकट (7), डेलावेयर (3), कोलंबिया जिला (3), इलिनोइस (20), मैरीलैंड (10), मैसाचुसेट्स (11), न्यू हैम्पशायर (4), न्यू जर्सी (14), न्यू मैक्सिको (5), न्यूयॉर्क (29), ओरेगन (7), रोड आइलैंड (4), वरमोंट (3), वर्जीनिया (13), वाशिंगटन (12) में भी बिडेन की जीत हुई है।

कैलिफोर्निया में बिडेन की बड़ी जीत

राष्ट्रपति पद के डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बिडेन ने 55 इलेक्टोरल वोट वाले कैलिफोर्निया में बड़ी जीत दर्ज की है। जिसके बाद बिडेन को मिले इलेक्टोरल वोट की संख्या 209 हो गई है, जबकि ट्रंप इस समय 112 इलेक्टोरल वोट हैं।

270 इलेक्टोरल वोट की जरूरत

अमेरिका में राष्ट्रपति बनने के लिए दोनों प्रत्याशियों में से किसी एक को 538 इलेक्टोरल कॉलेज में से 270 में जीत हासिल करनी होगी। इस बार वोटिंग वाले दिन से पहले ही लाखों लोग मेल या बैलट के जरिए वोट कर चुके हैं। बैलट के जरिए अब तक 9 करोड़ 30 लाख से अधिक लोग वोट कर चुके हैं।

ट्रंप ने कहा थैंक्यू

अमेरिका में जारी वोटों की गिनती के बीच राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर लोगों को धन्यवाद दिया है। ट्रंप ने लिखा, ‘हम पूरे देश में अच्छी स्थिति में दिख रहे हैं, थैंक्यू।’

न्यूयॉर्क में बिडेन की जीत

अमेरिकी डेमोक्रेटिक राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बिडेन ने मैसाचुसेट्स, न्यू जर्सी, मैरीलैंड और वर्मोन के अलावा न्यूयॉर्क में जीत हासिल की। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने टेनेसी, वेस्ट वर्जीनिया, ओक्लाहोमा, केंटकी और इंडियाना के अलावा अरकंसास में जीत दर्ज की।

फ्लोरिडा में कांटे की टक्कर

फ्लोरिडा में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और जो बिडेन में कांटे की टक्कर चल रही है। यहां 29 इलेक्टोरल वोट हैं और दोनों के लिए ही यह स्टेट जीतना बेहद जरूरी है। ट्रंप ने टेनेसी, साउथ कैरोलिना और ओक्लाहोमा में जीत दर्ज की है। जो बि़डेन ने न्यू जर्सी, अपने गृह राज्य डेलावेयर, वर्जीनिया में जीत दर्ज की है।

ट्रंप ने केंटुकी में दर्ज की जीत 

समाचार एजेंसी आइएएनएस के मुताबिक, मतगणना शुरू हो चुकी है। ट्रंप ने पश्चिमी वर्जीनिया, केंटुकी में जीत दर्ज की है। वहीं बिडेन वरमोन्ट में जीत रहे हैं। इंडियाना, केंटुकी और हैंपशायर में सबसे पहले काउंटिंग शुरू हुई है। केंटुकी में ट्रंप के हिस्से 8 इलेक्टोरल वोट भी आ चुके हैं।

मतदान को प्रभावित करने की कोशिश, जांच शुरू 

अमेरिका में जारी मतदान के बीच एक अजीब वाकया सामने आया। समाचार एजेंसी पीटीआइ के मुताबिक, लोगों के फोन पर एक ऑटोमेटेड कॉल आई, जिसमें उनसे चनाव के दिन घर पर ही रहने की गुजारिश की गई थी। न्यूयॉर्क की एटॉर्नी जनरल लेटिटिया जेम्स ने बताया कि इस घटना की गंभीरता से छानबीन की जा रही है। मताधिकार के इस्तेमाल से रोकने की कोशिश गलत है और इसे बर्दाश्‍त नहीं किया जा सकता है। 

ट्रंप का दावा, पूरे अमेरिका से मिले अच्‍छे संकेत 

अमेरिका में मतदान खत्‍म होने की ओर है। इस बीच राष्‍ट्रपति ट्रंप ने कहा है कि पूरे देश से हम अच्‍छे संकेत देख रहे हैं। आप सभी को शुक्रिया। वहीं सीएनएन ने अपने अनुमान में इंडियाना में ट्रंप के जीत की संभावना जताई है। सीएनएन के मुताबिक, सबसे पहले इंडियाना और केंटकी में नतीजों के आने की उम्‍मीद जताई है। 

मतदान खत्‍म होने में कुछ ही समय बाकी 

अमेरिका में मतदान खत्‍म होने में कुछ ही समय बाकी हैं। कई राज्यों में मतदान अंतिम दौर में है। लोगों ने जमकर मतदान किया है। थोड़ी ही देर में राष्ट्रपति पद के दोनों उम्मीदवारों ट्रंप और जो बिडेन की किस्मत बैलट बॉक्स में बंद हो जाएगी। इसके बाद मतगणना की प्रक्रिया शुरू होगी। पूरी दुनिया की निगाहें चुनाव नतीजों पर रहेंगी। हालांकि ठोस नतीजे आने में थोड़ा वक्‍त लग सकता है… ​​

ट्व‍िटर, फेसबुक ने कई अकाउंट किए सस्‍पेंड 

समाचार एजेंसी रॉयटर के मुताबिक, ट्व‍िटर, फेसबुक ने मतदान के दिन नियमों के उल्लंघन को लेकर अमेरिकी चुनावों पर पोस्ट करने वाले कई दक्षिणपंथी झुकाव वाले अकाउंट्स को निलंबित कर दिया। ट्विटर ने कहा कि इन अकाउंट को नीति के उल्लंघन करने पर निलंबित किया गया है। वहीं फेसबुक का कहना है कि उसने अमानवीय व्यवहार को लेकर अकाउंट्स को निलंबित किया। इन अकाउंट्स को हाल ही में बनाया गया था…

 

ट्रंप बोले, राजनीति में कुछ भी कहा नहीं जा सकता 

ट्रंप ने कहा है कि मैंने जीत या हार के भाषण को लेकर कोई तैयारी नहीं की है। आखिर में हम दोनों (ट्रंप या बिडेन) में से कोई एक तो ऐसा करेगा। जीत आसान होती है लेकिन हार कठिन, खास तौर पर मेरे लिए तो हार बिल्कुल भी आसान नहीं है। रैलियों को देखिए तो वहां जबर्दस्त भीड़ हो रही है। लोग हमें भरपूर प्यार दे रहे हैं और बेजोड़ एकजुटता दिखा रहे हैं। हम शानदार जीत दर्ज करने वाले हैं लेकिन यह राजनीति है और यहां कुछ भी नहीं कहा जा सकता है।

बैलेट पहुंचने में हुई देर तो अदालत ने दिए आदेश 

अमेरिका में जारी चुनाव के बीच एक अजीब वाकया पेश आया है। पेन्सिलवेनिया और फ्लोरिडा जैसे राज्‍यों में बैलेट्स के पहुंचने में देरी की शिकायत सामने आई है। यह मामला तुरंत अदालत पहुंचा और न्‍यायाधीश ने अमेरिकी पोस्‍टल सेवा को कहा कि इन क्षेत्रों में जल्‍द से जल्‍द मतदाताओं के लिए उक्‍त सेवा मुहैया कराई जाए। उक्‍त आदेश के दायरे में केंद्रीय पेन्सिलवेनिया, उत्तरी न्यू इंग्लैंड, दक्षिण कैरोलिना, दक्षिण फ्लोरिडा, कोलोराडो, एरिज़ोना, अलबामा और व्योमिंग, अटलांटा, ह्यूस्टन, फिलाडेल्फिया, डेट्रायट और लेकलैंड, फ्लोरिडा के शहर आएंगे।

बिडेन के लिए गागा ने मांगा वोट 

लेडी गागा ने अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन के लिए वोट मांगा। इस दौरान स्‍टेज पर उनकी अदा देखने लायक थी। पिट्सबर्ग और पेन्सिलवेनिया में एक चुनावी रैली में उन्‍होंने लोगों से बड़ी संख्‍या में मतदान की अपील की और कहा कि आप सभी का जीवन इसी चुनाव पर टिका हुआ है।  

हैरिस बोलीं, बिडेन के पास नस्लीय अन्याय से लड़ने का साहस 

कमला हैरिस ने मतदाताओं से कहा कि अमेरिका में लंबे समय से जारी नस्लीय अन्याय के बारे में सोचें। जो बिडेन के पास इससे लड़ने का साहस है। वह समझते हैं कि इसके बारे में सोचना, बोलना और सुनना मुश्किल हो सकता है, लेकिन हम चीजों की सच्चाई का सामना कर सकते हैं। मौजूदा वक्‍त में अमेरिका को नस्‍लीय विषमताओं से निपटने की सख्‍त जरूरत है। बता दें कि बीते दिनों आए एक सर्वे में एशियाई-अमेरिकी और अश्‍वेत मतदाताओं ने बिडेन पर भरोसा जताया था। पढ़ें पूरी रिपोर्ट…

बिल और हिलेरी क्लिंटन ने डाले वोट 

अमेरिका में वोटिंग की प्रक्रिया जारी है। पूर्व राष्‍ट्रपति बिल क्लिंटन और उनकी पत्‍नी हिलेरी क्लिंटन ने डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्‍ट्रपति और उपराष्‍ट्रपति पद के उम्‍मीदवार जो बिडेन और कमला हैरिस के लिए मतदान किया है। इससे पहले अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप ने फ्लोरिडा में अपना वोट डाला… मौजूदा अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप पहले ही मतदान कर चुके हैं… 

ट्रंप के दावे पर बोलीं हैरिस, मतदान अभी खत्‍म नहीं हुआ 

अमेरिकी चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से उपराष्‍ट्रपति पद की उम्‍मीदवार कमला हैरिस ने भी अपनी जीत का दावा किया है। हैरिस ने कहा है कि दिन अभी खत्‍म नहीं हुआ है। मतदान खत्‍म हो जाने दीजिए इसके बाद मुझसे पूछिएगा तब शायद मेरे पास बेहतर कहने के लिए कुछ होगा। फिलहाल मैं यहां लोगों को मतदान करने के लिए याद दिला रही हूं क्‍योंकि यह अभी जारी है… ‍ 

ट्रंप ने महत्‍वपूर्ण राज्‍यों में उम्‍दा प्रदर्शन का दावा किया 

राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने वर्जीनिया में अपनी जीत का दावा करते हुए कहा कि मैंने सुना है कि हम फ्लोरिडा में बहुत अच्‍छा कर रहे हैं। एरिजोना और टेक्‍सास में भी हमारा प्रदर्शन बढ़िया है। हम इन महत्‍वपूर्ण राज्‍यों में उम्‍दा प्रदर्शन कर रहे हैं। मैं समझता हूं कि हम एक महान नाइट सेलिब्रेशन की ओर जा रहे हैं। इससे भी बड़ी बात यह कि हम महान कार्यकाल की ओर बढ़ रहे हैं। 

ट्रंप बोले, कमला हैरिस का उपराष्ट्रपति बनना महिलाओं के लिए खतरनाक 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कहा है कि कमला हैरिस का उपराष्ट्रपति के तौर पर निर्वाचित होना महिलाओं के लिए बहुत खतरनाक होगा। उन्‍होंने लोगों से मतदान की अपील करते हुए कहा कि आपको उन लोगों से निपटना है जो धोखेबाज हैं। इससे पहले ट्रंप ने दावा किया कि हैरिस देश की पहली महिला राष्ट्रपति बनाना चाहती हैं। यह कारण काफी है कि आप बिडेन के पक्ष में मतदान नहीं करें।

नाइट पार्टी में अतिथियों की संख्‍या घटाई, मेलेनिया ने दिया यह जवाब 

सीएनएन ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि व्‍हाइट हाउस में चुनाव के दिन होने वाली नाइट पार्टी में अतिथियों की संख्‍या घटाकर 250 कर दी गई है। वहीं बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, वोट डालने के बाद संवाददाताओं ने जब मेलानिया ट्रंप से पूछा कि आपने अपने पति के साथ मतदान क्यों नहीं किया। इस पर उन्‍होंने कहा कि मैं चाहती थी कि पोलिंग बूथ पर आकर मतदान करूं… सनद रहे कि ट्रंप एक हफ्ते पहले ही बैलेट के जरिए मतदान कर चुके हैं… 

दोनों उम्‍मीदवारों ने किए अपनी अपनी जीत के दावे 

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि वह तब ही जीत की घोषणा करेंगे जब चुनाव जीत जाएंगे। उन्होंने कहा, ‘आपको पता है यहां गेम खेलने की कोई वजह नहीं है। मुझे लगता है कि जीत हमारी होगी। वहीं जो बिडेन ने कहा कि वह बड़े अंतर से जीत दर्ज करेंगे। बिडेन ने एक ट्वीट में यह भी कहा कि यह झूठ की जगह सच्‍चाई को चुनने का वक्‍त है। 

बिना मास्क के वोट डालने पहुंचीं मेलानिया  

अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप ने फ्लोरिडा में अपना वोट डाला। वह बिना मास्क के वोट डालने जाती नजर आईं… फ्लोरिडा कांटे के मुकाबले वाले प्रांतों में शुमार है। फ्लोरिडा के साथ साथ पेन्सिलवेनिया, टेक्सास और मिशिगन में भी बिडेन और राष्‍ट्रपति ट्रंप के बीच काफी कड़ा मुकाबला माना जा रहा है। बता दें कि अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप ने फ्लोरिडा और एरिजोना में अपनी जीत का भरोसा जताया है। 

राष्ट्रीय सर्वेक्षणों में बिडेन आगे 

वोटिंग के शुरुआती दौर में ही बड़ी संख्या में लोगों के मतदान करने की खबरें हैं। पेन्सिलवेनिया सैकड़ों लोग वोटिंग शुरू होने से पहले ही पोलिंग बूथों के बाहर कतारों में नजर आए। राष्ट्रीय सर्वेक्षणों में मौजूदा राष्‍ट्रपति ट्रंप के लिए निराशाजनक खबरें आ रही हैं। इन सर्वेक्षणों में जो बिडेन के ट्रंप से आगे रहने का अनुमान लगाया जा रहा है। बिडेन राष्ट्रपति ट्रंप से 6.7 फीसद वोटों से आगे चल रहे हैं। पढ़ें पूरी रिपोर्ट… 

मतदान केंद्रों के बाहर लंबी कतारें 

अमेरिका में मतदान को लेकर चूंकि अलग-अलग राज्‍यों में अलग अलग टाइमिंग तय की गई है। वर्जीनिया, न्‍यूयॉर्क, न्‍यूजर्सी, कैलिफोर्निया में लंबी लाइनें नजर आ रही हैं। ओपिनियन पोल्‍स में बिडेन को लीड का आकलन किया गया है। ट्रंप ने कहा है कि मैं जीत की उम्‍मीदों को देखकर बहुत अच्‍छा महसूस कर रहा हूं। उन्‍होंने उम्‍मीद जताई कि फ्लोरिडा और एरिजोना में उनकी जीत होगी।  

ट्रंप ने भी लोगों से की मतदान की अपील 

ट्रंप ने ट्वीट कर लोगों से बड़ी संख्‍या में मतदान करने की अपील की है। उन्‍होंने कहा, ‘मेरे सभी समर्थकों को तहेदिल से शुक्रिया। आप सभी शुरुआत से जुड़े रहे हैं। मैं भी आपको निराश नहीं करूंगा। आपकी उम्मीदें, मेरी उम्मीदें हैं… आपके सपने मेरे सपने हैं। मैं आपके भविष्य के लिए जूझ रहा हूं। बिडेन के लिए डाला गया वोट सरकार का नियंत्रण कम्युनिस्टों के हाथों में दे देगा। आइए, अमेरिका को फिर से महान बनाने के लिए मतदान करें…।

 

पेलोसी बोलीं, संसद राष्ट्रपति का फैसला करने को तैयार

चुनाव नतीजों के बाद बवाल की आशंका को देखते हुए अमेरिका के प्रमुख वाणिज्यिक संस्थानों की सुरक्षा भी कड़ी कर दी गई है। अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी ने कहा है कि यदि नतीजों को लेकर कोई विवाद होता है तो संसद राष्ट्रपति का फैसला करने को तैयार है। पढ़ें पूरी रिपोर्ट…

बिडेन और हैरिस ने लोगों से वोट डालने की अपील की 

डोमेक्रेटिक पार्टी से राष्‍ट्रपति पद के उम्‍मीदवार जो बिडेन, उपराष्‍ट्रपति पद की उम्‍मीदवार कमला हैरिस ने ट्वीट कर लोगों से बड़ी संख्‍या में मतदान की अपील की। बिडेन ने कहा, ‘आज चुनाव का दिन है। जाइये और अमेरिका के लिए मतदान करिए।’ कमला हैरिस ने कहा कि पूरे अमेरिका में मतदान शुरू हो गए हैं। मास्‍क प‍हनिए और जाइए अपने मतदान केंद्र पर वोट डालिए। 

न्यू हैम्पशायर में डाला गया पहला वोट, डिक्सविले नॉच में सभी पांच वोट बिडेन को

पूर्वोत्तर राज्य न्यू हैम्पशायर के कस्बों डिक्सविले नॉच और मिल्सफील्‍ड में पहले वोट डाले गए। मतदाताओं ने अमेरिकी राष्ट्रपति और न्यू हैम्पशायर के राज्यपाल और संघीय और राज्य विधानसभा सीटों के लिए अपने पसंदीदा उम्मीदवारों को चुनने के साथ की। बिडेन ने न्यू हैम्पशायर के डिक्सविले नॉच में सभी पांच वोट जीत लिए हैं। यहां सबसे पहले नतीजे आए हैं। पढ़ें पूरी रिपोर्ट…

हाई अलर्ट पर सभी खुफिया संस्‍थान

इन चुनावों को हालिया इतिहास के सबसे विभाजनकारी चुनावों में से एक बताया जा रहा है। सभी महत्‍वपूर्ण सरकारी प्रतिष्ठान हाई अलर्ट पर हैं। सीक्रेट सर्विस ने व्हाइट हाउस को किले में तब्दील कर दिया है। इसके बाद राष्ट्रपति के आवास के परिसर के चारों तरफ एक अस्थाई तौर पर ऊंची दीवार खड़ी की गई है। हिंसा की आशंका को देखते हुए कामगार प्रमुख दुकानों और स्टोरों पर सुरक्षा के लिए फ्रेम लगाए गए हैं। पढ़ें पूरी रिपोर्ट…

यह भी देखें: बिडेन 219 इलेक्टोरल वोट्स से आगे, ट्रंप को अभी तक मिला 209 का साथ2

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस





Source link